प्वाइंट को लेकर भिड़ी दो टीमें, जमकर चली कुर्सियां

सासाराम (राणा अवधूत कुमार) : आगामी 21 जनवरी को नशामुक्ति अभियान के तहत राज्यव्यापी मानव श्रृंखला निर्माण को लेकर बुधवार को रोहतास जिला में प्रखंड स्तरीय आयोजित खेलकूद प्रतियोगिता के तहत चेनारी प्रखंड मुख्यालय स्थित राम दुलारी गंगा उच्च विद्यालय का मैदान थोड़ी देर के लिए रणक्षेत्र में उस समय तब्दील हो गया.

जब टीमों के बीच जीत हार के पॉइंट को लेकर मतभेद उत्पन्न हो गये. लात-मुक्का से शुरू हुये विवाद का अंत कुर्सियों को तोड़ कर हुआ. लाठी डंडों की चोट से आधे दर्जन छात्र चोटिल हुए. जिन्हें इलाज के लिए चेनारी के निजी दवाखानों में दाखिल कराया गया. कुछ को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छूटी दे दी गई. मौके पर मौजूद प्रखंड व थाना स्तरीय अधिकारियों की स्थिति देखने लायक थी जो समझ नहीं पा रहे थे कि करे तो क्या. मौजूद पुलिस के हस्तक्षेप से मामले पर तत्काल काबू पा लिया गया. घायलों में सदोखर गांव के अजित कुमार, टीपू कुमार, सुनील कुमार और मल्हीपुर के आशुतोष कुमार, रवि कुमार समेत दो और छात्र शामिल है. जिनकी स्थिति ठीक बताई जाती है.

मिली जानकारी के अनुसार तय कार्यक्रम के अनुसार, मानव श्रृंखला को ले स्कूली छात्रों में उत्साह जगाने के लिए बीडीओ और सीओ के निर्देशन में प्रखंड स्तर पर लगातार खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाना है. जिसमें प्रखंड के विभिन्न विद्यालयों के छात्र हिस्सा लेंगे. आज के आयोजन के उद्धघाटन के मौके पर चेनारी के बीडीओ, सीओ और प्रखंड प्रमुख सहित अन्य कई जनप्रतिनिधि मौजूद थे. विधिवत उद्घाटन हुआ. कई राउंड के खेल भी हुए. आज के आयोजन में कबड्डी मैच की बारी थी. मुकाबला सदोखर और मल्हीपुर गांव के छात्रों के बीच था. वैसे भी उक्त प्रखंड में सदोखर और मल्हीपुर गांव अपने सामने किसी को समझता भी नहीं है.

khelkud-1

खेल के अंतिम चरण में जीत-हार के पॉइंट को लेकर दोनों पक्षों में तकरार शुरू हुई. बात बढ़ते-बढ़ते धक्का-मुक्की, लात घुस्सा से लेकर लाठी डंडा के प्रयोग तक जा पंहुची. तमाम प्रशासनिक अधिकारियों के सामने ही खिलाड़ियों के साथ आसपास के गांवों के जुटे काफी संख्या में लोग टीमों में से किसी न किसी के पक्षकार हो दंगल में शामिल हो गये. जिसने कुछ नहीं किया, उसने प्लास्टिक की लायी गई कुर्सियां तोड़ अपने मन को तस्सली दी. इस संबंध में पूछने पर पुलिस ओ प्रशासन के अधिकारियों ने कहा, बच्चे है, इतना तो चलता ही है. खेल में हुए विवाद को तूल नहीं देना चाहिए. लड़कों को हलकी फुलकी चोटें आई थी. सभी ठीक है. आगे भी प्रत्योगितायें होती रहेंगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *